वोह अल्फ़ाज़ ही क्या जो समझानें पढ़ें

वोह अल्फ़ाज़ ही क्या जो समझानें पढ़ें,
हमने मुहब्बत की है कोई वकालत नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *