Tag - Motivational

ye kya sochenge – Motivational Quotes

ye kya sochenge - Motivational Quotes

ये क्या सोचेंगे?
वो क्या सोचेंगे?
दुनिया क्या सोचेगी?
इससे ऊपर उठकर कुछ सोच,
जिन्दगीं सुकून का दूसरा नाम हो जाएगी

ye kya sochenge?
wo kya sochenge?
duniya kya sochegi?
isase upar uthkar kuchh soch,
zindagi sukoon ka dusara naam ho jayegi

रहती है छाँव क्यों मेरे आँगन में थोड़ी देर

रहती है छाँव क्यों मेरे आँगन में थोड़ी देर
इस जुर्म पर पड़ोस का वो पेड़ कट गया….

“शब्द” के भी कोष में मिलता नही अर्थ है……
आदमी को समझने में आदमी असमर्थ है……….

जिसने संसार को बदलने की कोशिश की – Motivational

*”दूसरों को समझना*
*बुद्धिमानी है,*
*खुद को समझना*
*असली ज्ञान है।*

*दूसरों को काबू करना*
*बल है,*
*और खुद को काबू करना*
*वास्तविक शक्ति है।”*

*”जिसने संसार को बदलने की कोशिश की*
*वो हार गया*
*और*
*जिसने खुद को बदल लिया*
*वो जीत गया।”*
*सुप्रभात*
*🍁आपका दिन मंगलमय हो।🍁*

Happy Independence Day

Happy 70th Independence Day
ये कैसी आज़ादी ?
अरे ये कैसी आज़ादी ?
बच्चे भूख से मरते ,
भूखी आधी आबादी
अरे ये कैसी आज़ादी।

ढोल बजे लड़का होने पर
हो लड़की से बर्बादी
अरे ये कैसी आज़ादी
हां हां ये कैसी आज़ादी ।

पढ़ लिख कर साहब बनके
फिर ले दहेज करे शादी
अरे ये कैसी आज़ादी
हां हां ये कैसी आज़ादी।
Jo Ab Tak Saha Hai
Ab Na Sahenge.
Asli Azaadi
Hum Lekar Rahenge.

जीत ना सके तो क्या मैदान में उतरे तो थे – Motivational

जीत ना सके तो क्या मैदान में उतरे तो थे
हार गए तो क्या संघर्ष ऐ-जंग में भिड़े तो थे
हमारी उड़ानें अब पंखो की मोहताज नही, हम उड़े न उड़े अब, साथ कदमों में तो है….
चहार दीवारों में अब कैद नही रही हमारी हसरतें
हम सवालों में न सही, हर जवाबों में तो थे….

सुकून सुलाता है जुनून जगाता है अगर थके हो

आधी रात की बात –
सुकून सुलाता है जुनून जगाता है अगर थके हो
और सुकून में हो तो बिस्तर पर आराम फरमाएं ,
पर अगर जुनून में हो — तो तब तक जगो जब तक तुम्हारे रास्ते की सारी रुकावटें थक कर सो ना जाएं।

इंसान इंसान को आखिर क्या क्या देता – Motivational

प्रश्न -इंसान इंसान को आखिर क्या क्या देता ?
उत्तर – बन जाता है अगर कोई कुछ तो बस दूसरों मशविरा देता है।

जब सुबह 4 बजे उठी रसोई में काम करती माँ

फ़िक्र मत करो मेरे दोस्त जब सुबह 4 बजे उठी रसोई में काम करती
माँ के बर्तनों की खट पट तुम्हें नहीं उठा पायी ,
तुम्हारे पिता की हज़ारों ख्वाहिशें और हज़ारों उम्मीदें तुम्हें सुबह जल्दी नहीं उठा पायी ,
तो यकीन मानों कोई अज़ान कोई आरती तुम्हें नींद से नहीं जगा पायेगी।

पर जो वक़्त तुम्हारा है वो जरूर आएगा – Motivation

माना कि अभी तन्हा हो तुम , साथ तुम्हारे कोई महफ़िल नही है।
माना कि चमकते सितारों की फेहरिस्त में , नाम तुम्हारा अभी शामिल नहीं है।
” पर जो वक़्त तुम्हारा है वो जरूर आएगा ”
बस इतना ठान लो अगर तुम मन में , तो फिर कुछ भी करना मुश्किल नहीं है।