Category - Hindi Dard Shayari

दिल का दर्द दिल तोड़ने वाले क्या जाने

दिल का दर्द दिल तोड़ने वाले क्या जाने,
प्यार के रिवाजों को ज़माने क्या जाने,

होती कितनी तकलीफ़ लड़की पटाने मैं,
ये घर पे बैठा लड़की का बाप किया जाने?

रह न पाओगे भुला कर देख लो

रह न पाओगे भुला कर देख लो,
यकीं न आये तो आजमा कर देख लो,
हर जगह महसूस होगी मेरी कमी,
अपनी महफ़िल को कितना भी सजा कर देख लो।😐 😢 😭

आशियाना बनाये भी तो कहाँ बनाये​

आशियाना बनाये भी तो कहाँ बनाये​
​जनाब…​😌😌
​जमीनें महँगी हो चली है
​और​
​दिल में लोग जगह नहीं देते..​😪😪

पत्थर से प्यार किया ,नादान थे हम

पत्थर से प्यार किया ,नादान थे हम
गलती मुझसे हुई , इंसान थे हम ।
आज उन्हें बात करने में तकलीफ होती है,
कभी वो कहते थे,उनकी जान हैं हम ।।

दर्द कितना है बता नहीं सकते

“दर्द कितना है बता नहीं सकते;
ज़ख़्म कितने हैं दिखा नहीं सकते;
आँखों से समझ सको तो समझ लो;
आँसू गिरे हैं कितने गिना नहीं सकते।

मिले तो हज़ारों लोग थे ज़िन्दगी में पर

💞💞💞💞
मिले तो हज़ारों लोग थे ज़िन्दगी में पर,
वह सबसे अलग था जो किस्मत में नहीं था..!!
💞💞💞💞

वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए

वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए,
वो ख़ुशी ही क्या जो होठों पर रह जाए,
कभी तो समझो मेरी ख़ामोशी को,
वो बात ही क्या जो लफ्ज़ आसानी से कह जाए..

टूट कर चाहा था तुम्हे – Dard Shayari

💕💕*टूट कर चाहा था तुम्हे
और तोड़ कर रख दिया तुमने मुझे*💕💕

कहते है, प्यार की शुरुआत आँखो से होती है

कहते है, प्यार की शुरुआत आँखो से होती है,
यकीन मानो दोस्तो ,प्यार की कीमत भी आँखो से ही चुकानी पड़ती है |

मेरा दिल भी उस मातम से सेहर जाता है

मेरा दिल भी उस मातम से सेहर जाता है
हां मेरी आँखों में वो मंज़र नजर आता है ….
बददुआ मेरी ये लाचार हुकूमत न रहे
शर्म आती है इसपे, दोगली सियासत न रहे
मुझे उन दुधमुहीं जिंदगानियों का ख्याल आता है
हां मेरी आँखों में वो मंज़र नजर आता है।

उजाला करने से पहले ही दिये बुझते …

वो आऐ मेरी जिन्दगी में कहानी बनकर – Hindi Shayari

“वो आऐ मेरी जिन्दगी में कहानी बनकर ,
इस दिल में रहे प्यार की निशानी बन कर,
अकसर जिन्हें हम जगह देते है इस दिल में,
वो आँखों से निकल जाते है पानी बन कर..”

मेरा ऐतबार कम था किसी के ऐतबार के सामने – Hindi Shayari

मेरा ऐतबार कम था किसी के ऐतबार के सामने…
मेरा इंतजार कम था किसी के इंतजार के सामने,
दे दी उसने अपनी चाहत किसी ओर काे
शायद मेरा प्यार कम था किसी के प्यार के सामने.

जिस राह पर हर बार मुझे कोई अपना छलता रहा – Hindi Shayari

जिस राह पर हर बार मुझे कोई अपना छलता रहा
फिर भी ना जाने क्यूँ मै उसी राह पर चलता रहा
सोचा बहुत इस बार रोसनी नहीं धुआँ दूंगा
लेकिन चिराग था फितरत से जलता रहा….जलता रहा

एक ये ख्वाहिश कि – Hindi Shayari

एक ये ख्वाहिश कि, 💚💚 🌹
कोई जख्म ना देख ले दिल का… ❤️❤️ 🌹
एक ये हसरत कि कोई देखने वाला हो 😪😪😪

तुम आये हो इस जीवन में हज़ार पांच सौ की नोटों की तरह

ये गाना सुना है
तुम आये हो इस जीवन में हज़ार पांच सौ की नोटों की तरह ,
हो मेरे यार बदल ना जाना नोटबंदी के नियमों की तरह ।